Author Archives: indra

पराली का प्रलय: हत्यारे बनते किसान

  आज सबेरे धूंआ की एक तीव्र गंध के कारण नींद खुल गई। थोड़ा सोचने पर लगा कि यह आम प्रदूषण नहीं है। फिर नोयडा का API index भी देखा। वह तो 183 ही था। फिर लगा कल रात एक … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

आदिपुरुष के पटकथा लेखक और गीतकार के नाम यह निवेदन

आजकल मनोज मुंतशिर जो ‘आदिपुरुष’ फ़िल्म के पटकथा लेखक हैं और जिनका मैं अबतक प्रशंसक था, बड़ी चर्चा में हैं। मुझे समझ में नहीं आता तुलसीदास के रामायण में जब राम के लिये शायद यह नाम कहीं नहीं आता फिर … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

निरर्थक है बिना समझे नित्य पाठ 

हम धर्मग्रंथ का नित्य पाठ कर अपने कर्तव्य का अन्त क्यों कर देते हैं? उसके सर्जनकर्ता की इच्छा को क्यों नहीं समझते हैं? वह तो इन ग्रंथों को समाज के पढ़े लिखे या अपढ समझदार व्यक्तियों में अपने जीवन के स्वभाव एवं … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Today’s Requirement for be world class company

Today every country including the USA and Germany, Japan must take lessons from Elon Musk and Management expert Porter who told the companies to remember the principle of making, growing and then destroying from ancient Hindu philosophy. The companies must … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Bhagwad Gita- Who were Asuras and Devas?

Bhagwad Gita- Who are Asuras? There is confusion and misconception among people that the people called Asuras or Rakshasas or Nisachars of Ramayana or other epics and puranas’s stories and tales were some different beings mostly with ferocious and larger … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Some Important Slokas from Bhagavad Gita 

Some slokas from Bhagavad Gita-1 Bhagavad Gita has many single slokas emphasizing that through just one basic discipline of your mind, you may ultimately reach Reality or Moksha or immortality. You can try it. Even if you are not seeking … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

कितने श्लोकों में आप समझना चाहते हैं गीता का पूर्ण सार एवं पाना चाहते हैं उसके लाभ?

कितने श्लोकों में आप समझना चाहते हैं गीता का पूर्ण सार एवं पाना चाहते हैं उसके लाभ?भगवद्गीता भारत की एक अनमोल धरोहर है जिसका दुनिया के सभी मुख्य भाषाओं में अनुवाद हो चुका है और वहाँ के विद्वान इसकी देश … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Background To My Selection of Favourite Slokas of Hindu Scriptures

Background To My Selection of Favourite Slokas of Hindu Scriptures My interest in memorising verses from religious books started during my early school days in my native village. My grandfather was a teacher at Birlapur, near Calcutta in Bangal, which … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

उपनिषदों के दो महत्वपूर्ण निष्कर्ष-

उपनिषदों के दो महत्वपूर्ण निष्कर्ष- जो दुनिया को बचा सकते थे,हैं अगर धर्म के सदस्य कम से कम यह मान लें जो बिल्कुल धर्मनिरपेक्ष दर्शन है। भारत के ब्रह्मज्ञानी ऋषियों का दुनिया के सभी व्यक्ति-विशेष एवं अपने समाज,देश,पूरे विश्व की … Continue reading

Posted in Uncategorized | 1 Comment

उपनिषदों के दो महत्वपूर्ण निष्कर्ष- जो दुनिया को बचा सकते थे,हैं

उपनिषदों के दो महत्वपूर्ण निष्कर्ष- जो दुनिया को बचा सकते थे,हैं अगर धर्म के सदस्य कम से कम यह मान लें जो बिल्कुल धर्मनिरपेक्ष दर्शन है। भारत के ब्रह्मज्ञानी ऋषियों का दुनिया के सभी व्यक्ति-विशेष एवं अपने समाज,देश,पूरे विश्व की … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment