Author Archives: indra

कुछ दिल की, कुछ दिमाग़ की-१

१ नीतीश कुमार अब पंद्रह या ज़्यादा साल से बिहार की गद्दी पर हैं और उनके पास अब कोई दूसरा बहाना नहीं है बिहार की चिरस्थायी बदहाली का. नीतीश ने कुछ सराहनीय क़दम उठाये जिसमें शराबबन्दी, दहेज और बाल बिबाह … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Noida Authority and Ad hoc Projects

For last four years or so, most in F-Block would have seen or heard about at least two-three major projects of real interest coming up that can make the life of residents better in many ways. 1. Community Centre or … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

जब जब होहीं धरम के हानि

एक ६५ वर्ष का ब्यक्ति एक १ साल की बच्ची के साथ बलात्कार करता है और उसकी हत्या कर देता है.तुलसी का कलिकाल असल होता दिखता है:’कलिकाल बिहाल किए मनुजा। नहिं मानत क्वौ अनुजा तनुजा॥’ इसी तरह की ख़बर छपती … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

२०१९ का प्रारम्भ २०१८ में हीं

बिरोधी राजनीतिक पार्टियाँ एक साथ मिल भारतीय जनता पार्टी से लड़ना चाहती हैं राज्य और केन्द्र में सरकार बनाने के लिये, पर अपनी अलग स्वरूप बरक़रार रखते हुये जो देश के हित में ख़तरनाक है. केवल दो पार्टियों के गठबंधन … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Narendra Modi’s Four Years, as I see it

Modi has been unique in his way of doing the things in a country which finds it difficult to drop decades if not centuries of legacy of dishonesty, lethargy, and deficiency. 1. Modi started by inviting all Saarc country heads … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

वर्णाश्रम की सामयिकता-आज के संदर्भ में

प्राचीन भारत के समाज शास्त्री मनीषियों ने दो सार्वभौम व्यवस्था की खोज की और स्थापित किया.अगर बिना पक्षपात और संकीर्ण मनोभाव के देखा जाये, वे आज भी उतना ही सामयिक एवं सर्वपयोगी है जितना उस समय थे. अगर उसे सठीक … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

भागवत पुराण, तुलसीकृत रामचरितमानस और कलिकाल

प्राचीन समय से ही कलियुग को सबसे निकृष्ट युग बताया गया.बहुत ग्रंथों में इस का ज़िक्र है. दो जानता हूं- भागवत पुराण एवं रामचरितमानस मानस.भागवत पुराण के अंश की जानकारी डा. यू.डी.चौबे से मिली. किसी जानकार ब्यक्ति ने उनके पास … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment